102,248 views 174 on YTPak
177 22

Published on 07 Oct 2010 | over 6 years ago

Film: Kati Patang (1970). original was singing by: Mukesh

बगियाँ-बगियाँ भटका भँवरा,पुष्प नहीं कोई भाया,



बियाबान जंगल में तब इक फूल दिखा बेरंग-मुरझाया,



बैठा जब उस सुमन लता पर आँखे सभी की भर-भर आई,



सुगंध नहीं, नहीं रंग यहाँ पर ,क्यो कर तब आये ओ भाई,



पुलकित हो तत क्षण वो बोला, ये तो मन का खेल निराला,



मन ऊबा रंगीनी से, जब गंध से आने लगी उबकाई,



दिल की बात करूँ किससे तो हे पुष्प याद तेरी हो आई..!!!





देदीप्य भानु

05/10/2010

Loading related videos...