3,220,714 views 1,166 on YTPak
16,128 1,233

Published on 15 Dec 2014 | over 2 years ago

Ye Mat Kaho KHUDA Se, MERI Mushkilein Badi Hai,
MUSKILON Se Keh Do, Mera KHUDA Bada Hai - Very Sweet & Inspiring...

Absolutely beautiful & inspiring Meditation Song sung so sweetly by BK Asmita Behn & beautifully composed by Joy Sarkar for Brahma Kumaris is in your service.

Enjoy in FULL Screen.

Our Supreme Father, ParamPita, ParamAtma ShivBaba Allah God Jehovah is ONE for All Souls, SUPREME Light. HE is AVAILABLE Now, only Once in Confluence Age in Every Kalp of 5000 Years when World degrades most in Iron Age. HE is Here as Father, Mother, TEACHER, SatGuru, Sathi, Sakha, Surgeon, Sajan Sajani. HE says establish ALL relations with ME so as to detach yourself from All Attachments TO Body & Body Relations, Possessions, Positions, root cause of Sorrow & Conflicts. He is calling us…COME, My Children I will take you to your Original Home & Next Satyug, FULL of Peace, Purity & Prosperity.

Connect to HIM through RajYog Meditation at Brahma Kumaris. Understand & Realize about Self, Supreme Self, Eternal Drama called Life on Earth, Role of FIRST Deity Soul BrahmaBaba.
Result...No Conflicts, No Worries, No Fear, No Tension, No Depression, No Addictions. ONLY FEELING OF LOVE, PEACE, JOY, ONENESS & much more with One World One Godly FAMILY.

Reflect on various Attributes/qualities of Shiv-Allah-God, know HIM truly & Re-establish Relationship with Him & once again emerge those qualities, buried under our Kalyugi Sanskars. REFLECT ON EACH POINT & CHURN HOW IT APPIES TO US SO AS TO SHOW FATHER/Reveal Father.

Om Shanti.

01. शिव बिंदु रूप-ज्योति स्वरुप हैं।

02. शिव परमपिता, परमशिक्षक, परमसतगुरु हैं।

03. शिव ब्रह्मलोक, परमधामके वासी हैं।

04. शिव दिव्य दृष्टी विधाता हैं।

05. शिव गुणों के भंडारी हैं।

06. शिव काल के पंजे से छुड़ाते हैं।

07. शिव सृष्टी के आदि मध्य अंत को जानते हैं।

08. शिव आनंद के सागर हैं।

09. शिव सुख दुःख से न्यारे हैं।

10. शिव शांति के दाता हैं।

11. शिव दिव्य बुद्धिके दाता हैं।

12. शिव पतित पावन हैं।

13. शिव सदगति दाता हैं।

14. शिव सबके सुखके दाता हैं।

15. शिव नरसे नारायण बनाते हैं।

16. शिव पत्थरबुद्धि वालोंको पारसबुद्धि बनाते हैं।

17. शिव ग्यान अमृतके सागर हैं।

18. शिव सत्त् चित् आनंद स्वरुप हैं।

19. शिव निराकार हैं, देह धारी नहीं हैं।

20. शिव विष्णु द्वारा दिव्य सृष्टिका पालन करते हैं।

21. शिव शांतिके सागर हैं।

22. शिव ही ब्रह्मा-विष्णु-शंकरके रचयिता त्रिमूर्ति हैं।

23. शिव ही जीवन-नैय्याको पार ले जानेवाले हैं।

24. शिव जन्म-मरणसे न्यारे हैं।

25. शिव प्रेमके सागर हैं।

26. शिव अकालमूर्त हैं।

27. शिव मुक्तिदाता जीवनमुक्ति दाता हैं।

28. शिव दुखहर्ता सुखकर्ता हैं।

29. शिव मनुष्यसृष्टि वृक्ष के बीज-रुप हैं।

30. शिव कर्मोंकी गतिको जाननेवाले हैं।

31. शिव ब्रह्मा द्वारा दिव्यसृष्टिकी स्थापना करते हैं।

32. शिव शंकर द्वारा आसुरी सृष्टिका विनाश करते हैं।

OM SHANTI…
Customize Your Hybrid Embed Video Player!

6-digit hexadecimal color code without # symbol.

 

Report video function is under development.

 


Loading related videos...